कल्याणजी भगत vs रतन खत्री

मटका किंग के नाम से मशहूर रहे रतन खत्री का मुंबई में निधन

मूल रूप से पाकिस्तान के कराची से ताल्लुक रखने वाले रतन खत्री भारत-पाकिस्तान बंटवारे के समय में भारत आए

कल्याण सिंग भगत से मिलने के बाद रतन खत्री की ज़िन्दगी में बड़े बदलाव आये

कौन थे कल्याण भगत

गुजरात के कच्छ इलाके से ताल्लुक रखने वाले कल्याण जी भगत भी 1941 में मुंबई

सुरु में कल्याण सिंह भगत ने मसाले की दुकान पे काम किया अच्छा नहीं लगने पे मटका सट्टे में अपना लक आजमाया

कल्याण भगत जी ने गेम का नाम मटका इसलिए रखा कुकी उन्होंने एक बार सड़क पे पर्ची डाल के मटके मई बच्चों को खेलते देखा था जो लोगो को बोहोत पसंद था

जब 1975 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने इमरजेंसी घोषित की थी तब रतन खत्री को भी पकड़कर जेल में डाल दिया गया था 

रतन खत्री को 19 महीने तक जेल मे रखा गया जिससे उनका सत्ता मत्ता मटका का कारोबार बुरी तरह से बर्बाद हो गया था