समय के महत्त्व पर भाषण

हमारे आसपास हर व्यक्ति किसी न किसी चीज़ की शिकायत करता हुआ दिखाई देता है कोई कहता है कि उसके पास पैसा नहीं है, कोई कहता है कि उसके पास अच्छा शरीर नहीं है, कोई कहता है.

कि उसके पास पर्याप्त संसाधन नहीं है और कोई कहता है कि उसके पास समय नहीं है. बाकी सभी संसाधनों की शिकायत करना तो वाज़िब हो सकता है.

लेकिन समय की शिकायत करना बिलकुल भी उचित नहीं है. समय सबके पास बराबर होता है हर व्यक्ति को अपने जीवन काल में हर दिन 24 घंटे मिलते है.

दुनिया के सबसे अमीर आदमी जेफ़ बेजोस के पास भी उतना ही समय है जितना कि एक साधारण मजदुर के पास होता है लेकिन समय के महत्त्व और कीमत की समझ उन्हें बेहतर तरीके से पता है तभी वो दुनिया के सबसे सफल इंसानों में से एक है.

इस लेख में समय के महत्व विषय पर भाषण तैयार किया गया है जो सभी के जीवन में समय के महत्व को समझने में उपयोगी रहेगा.   

समय के महत्त्व पर भाषण (Value of time Speech in Hindi)

Value of time Speech in Hindi

परम आदरणीय प्राचार्य महोदय, शिक्षक गण और मेरे प्यारे छोटे बड़े भाइयों और बहनो को मेरा प्रणाम. आज मैं एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय समय के महत्व पर अपने विचार प्रकट करने के लिए आप सभी के समक्ष उपस्थित हुआ हूँ.

समय का हमारे जीवन में बड़ा महत्त्व है जिसकी कीमत समय के बीत जाने के बाद ही पता चलती है. अमीर से अमीर व्यक्ति भी बीते हुए समय को खरीद कर नहीं बदल सकता और गरीब से गरीब व्यक्ति भी आने वाले समय को बदल सकता है यही प्रकृति का सबसे बड़ा सत्य है.

इसी वजह से सदियों से लोग समय को बड़ा बलवान कहते रहे है. समय किसी भी व्यक्ति को अमीर या गरीब बना सकता है जिसका आज हर कोई घमंड करता है.   

जीवन में समय का महत्त्व

इस धरती पर कोई भी प्राणी अमर नहीं होता जो जन्म लेता है उसकी मृत्यु भी निश्चित होती है. हमारा जीवन काल भी समय पर निर्भर है. जीवन और मरण सब समय के अधीन है.

इसलिए हमारे जीवन में समय के महत्व के बारे में सभी को पता है. समय के साथ हर व्यक्ति के जीवन में उतार चढाव आते रहते है और जो व्यक्ति इन उतार चढ़ावो का बिना डरे डटकर सामना करता है उसे जीवन में सफल होने से कोई नहीं रोक सकता.

हमारे समाज में अलग-अलग प्रकार के लोग है कोई अमीर है तो कोई गरीब. लेकिन समय कभी अमीर या गरीब में भेदभाव नहीं करता वो हर व्यक्ति के लिए सामान होता है.

फर्क सिर्फ आदमी को समय की सही पहचान और सदुपयोग में होता है. ऐसे व्यक्ति भी बहुत है जो खाली बैठे रहते है और पूरे दिन अपना समय बर्बाद करते है जिसका पछतावा उनको समय के बीत जाने के बाद होता है. 

समय भी हमारे साथ हमेशा खेल खेलता रहता है और यह बात हम अक्सर महसूस करते है. जब हम किसी बुरी परिस्थिति में होते है और हम चाहते है कि यह समय जल्दी चला जाए लेकिन तब समय की रफ़्तार बिलकुल धीमी हो जाती है.

और जब हम बहुत खुश होते है तब हम यही चाहते है कि समय यही रुक जाए तब वो और भी तेज गति से निकलता है. 

एक बार हमारा बचपन चला जाता है तो उसे वापस नहीं लाया जा सकता और एक बार अगर जवानी चली जाती है तो उसे भी वापस नहीं लाया जा सकता है.

उसके बाद तो केवल पछतावा ही किया जा सकता है कि उस समय अगर समय की कीमत का पता होता तो जीवन में बहुत कुछ कर सकते थे.

समय के साथ हमारे जीवन में कई परिस्थितियां आती है जो हमारी परीक्षा लेती है ताकि हमें समय का महत्व पता चले. 

विद्यार्थी जीवन में समय का महत्व

विद्यार्थी जीवन एक ऐसा जीवन होता है जब एक बच्चा बहुत कुछ सीखता है. हमारे विद्यालय में भी हमारे शिक्षक हमें समय का महत्व और उसका प्रबंधन करने पर हमेशा जोर देते है.

जो आगे चलकर हमारे जीवन में बहुत उपयोगी साबित होता है. विद्यालय में जो समय प्रबंधन हम सीखते वो आगे जीवन में कहीं भी सीखने को नहीं मिलता.

विद्यालय में हम पूरे तरीके से समय सीमा में बंधे रहते है. सुबह से लेकर शाम तक हर गतिविधि का समय निर्धारित होता है. हमें विद्यालय में आकर प्रार्थना करनी होती है उसका समय भी निर्धारित होता है.

उसके बाद क्लास में अलग-अलग विषय की समान समय तक पढाई होती है. भोजन करने का समय भी निर्धारित होता है और शाम को खेलने का समय भी निर्धारित होता है.

विद्यार्थी जीवन में समय और अनुशासन का पालन करने वाला विद्यार्थी जीवन में हमेशा सफल होता है और बहुत से महान लोगो ने इस कथन को स्वीकार किया है.

हमे भी विद्यार्थी जीवन में समय के महत्व को समझते हुए इस पर अमल करना चाहिए ताकि हम अपने जीवन में सफलता प्राप्त कर सके.

समय का सदुपयोग कैसे करे?   

एक सफल व्यक्ति के जीवन में समय के सदुपयोग की भी एक महत्वपूर्ण भूमिका बताई गयी है. समय का सही उपयोग करने के लिए समय का सही तरीके से प्रबंधन करना बहुत ही आवश्यक है.

हर व्यक्ति हो समय का प्रबंधन सीखना चाहिए. उसके लिए सबसे पहले अपने लक्ष्य के मुताबिक काम करना होगा. लक्ष्य बड़ा हो या छोटा उसको हासिल करने की शुरुआत एक छोटे कदम से ही होती है.

हमें अपने काम को छोटे छोटे टुकड़ो में विभाजित करना है और उनको एक निश्चित समय अंतराल में पूरा करने का प्रयास करना है.

इस प्रकार हम अपने आप को काम के प्रति पूरे तरीके से व्यस्त रख पाएंगे और हमें समय बर्बाद करने का वक्त भी नहीं मिलेगा.

यह समय प्रबंधन की सबसे बड़ी कला है जिसको आप अपने जीवन में प्रयोग करके देखे. इसके बाद आप समय का आसानी से सदुपयोग कर पाएंगे और आपको जीवन में सफल होने से कोई नहीं रोक पायेगा.

निष्कर्ष

मैं अपने भाषण के अंत में आपसे यह कहना चाहूंगा कि आज समय से बड़ा शक्तिशाली और महत्वपूर्ण कुछ भी नहीं है.

जिसने इस बात को अपने जीवन उतार ली और समय के साथ चलता रहा समय भी हमेशा उसके साथ रहेगा और जिसने अभी समय की कीमत को नहीं पहचाना उससे समय इतना आगे निकल जाएगा कि वो पूरे जीवन समय का पीछा ही करता रह जाएगा.

हमेशा समय के साथ चलने का प्रयास करो किसी भी काम को कल पर मत टालो और आज का काम आज ही पूरा करों. इसी के साथ में अपना आज का भाषण यहीं समाप्त करता हूँ.     

इन्हें भी जरुर पढ़े :