शिक्षक दिवस पर निबंध

हर साल 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जोकि पहले एक शिक्षक थे उन के जन्म दिन को ही Teachers Day के रूप में मनाया जाता है. शिक्षक दिवस के उपलक्ष में हम आपके लिए शिक्षक दिवस पर हिंदी निबंध लेकर आये है जोकि आपको बहुत अच्छा लगे गा तो फिर चलिए शरु करते है.

Teachers Day Essay in Hindi

शिक्षक दिवस निबंध | Teachers Day Nibandh

शिक्षक दिवस को हर साल भारत में 5 सितम्बर को मनाया जाता है शिक्षक दिवस को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 5 अक्टूबर को मनाया जाता है। पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी राष्ट्रपति बनने से पहले एक Teacher थे जोकि बड़ी लगन से बच्चों को पढ़ाते थे.

एक दिन उन के चाहने वालो ने कहा सर हम आपका जन्म दिन मनाना चाहते है लेकिन सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी ने कहा अगर आप लोग मेरा जन्मदिन मनाना ही चाहते हो तो इसे आप शिक्षक दिवस (Teachers Day) के रूप में मनाये तब से लेकर आज तक हर साल 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है. 

भारत देश में 5 सितम्बर 1962 से हर साल शिक्षक दिवस मनाया जा रहा है.

शिक्षक वो सक्स होता है जिस के बिना कोई भी सफल नहीं हो सकता है शिक्षक ही हमारी प्रतिभा को निखार कर हमे कामयाब बनाता है. एक शिक्षक की भी निजी जिन्दगी होती है लेकिन वो उस को भूल कर हर रोज विधालय आता है बच्चो को पढाता है.

महान कवी तुलसी दाश ने भी कहाँ है अगर एक साथ हमारे सामने भगवान और गुरु आ जाये तो सबसे पहले हम गुरु के चरण स्पर्श करना चाइये गुरु का महत्व भगवान् से भी ऊपर होता है.

हमे अपने शिक्षक का समान करना चाइये उन्हें इजत देनी चाइये शिक्षक तो मोमबती की तरह है जो खुद जलता है और विधार्थियों को उजाला दिखाता है.

हमे सदेव अध्यापक का कहना मानना चाइये क्योकि वो जो भी कहते या करते है वो विधार्थी के हित में ही होता है.

माता पिता हमे जन्म देते है लेकिन गुरु हमे शिक्षा देता है जिस के बल पर हम अपने जीवन में सफल व्यापारी या फिर अफसर बनते है. जिस प्रकार से बच्चे के पालन पोषण के लिए माता पिता की जरूरत होती है उसी तरह जीवन में आगे बढ़ने व् सही रास्ते पर जलने के लिए एक अध्यापक की जरूरत होती है.

एक शिक्षक ही एसा है जो बिना किसी चीज की इच्छा किये बच्चे को शिक्षा दे सकता है. इस शिक्षक दिवस पर हम प्रण लेते है हम अपने शिक्षक का कहना माने गें और सदेव उन का समान करे गें धन्यवाद.

Short Essay On Teachers Day in Hindi

शिक्षक दिवस को हर साल 5 सितम्बर को मनाया जाता है और इस दिन पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी का जन्म दिवस भी है. डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक विद्वान इन्सान होने के साथ – साथ एक आदर्श शिक्षक भी थे उने बच्चे बहुत पसंद करते थे.

भारत देश के साथ – साथ और देशो में भी Teachers Day को अलग – अलग दिन को मनाया जाता है इस दिन स्कूल, कॉलेज में प्रतियोगिता रखी जाती है जिस में बच्चे भाग लेते है कोई भाषण सुनाता है कोई निबंध लिखता है साथ में अध्यापक बच्चो को भाषण दे कर एक शिक्षक का महत्व बच्चो को समझाते है.

सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी ने खुद कलकत्ता विश्वविद्यालय, मैसूर विश्वविद्यालय और आक्सफोर्ड विश्वविद्यालय जैसे कई सारे संस्थानो में शिक्षा दी.

शिक्षक दिवस को हर साल 5 सितम्बर को मनाया जाता है और इस दिन पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी ने लगभग 40 साल तक शिक्षक के रूप में काम किया. उन्होंने सन् 1952 ले लेकर 1962 तक उप-राष्ट्रपति के रुप में देश को योगदान दिया और 1962 से 1967 तक उन्होंने देश के दूसरे राष्ट्रपति के रुप में भी कार्य किया. 

चाहे सर्दी हो या फिर गर्मी शिक्षक निरंतर स्कूल आता है और बच्चो को पढाता है शिक्षक का महत्व हर किसी के जीवन में है माता पिता हमे जन्म देते है लेकिन अध्यापक हमे दुनियाँ से परिचित कराते है हमे सही रास्ता दिखाते है जिस पर चल कर हम अपने जीवन में ढेर सारी सफलता हासिल करते है. आप सभी को मेरी तरफ से शिक्षक दिवस की ढेर सारी शुभ कामनाये.

शिक्षक दिवस पर दो लाइन हिंदी में|Some Lines On Teachers Day in Hindi

  • भारत में शिक्षक दिवस 5 सितम्बर को मनाया जाता है.
  • विभिन देशो को शिक्षक दिवस को अलग – अलग दिन मनाया जाता है.
  • 21 देशों में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को ही मनाया जाता है.
  • शिक्षक दिवस के दिन स्कूल, कॉलेज में प्रतियोगिता आयोजित की जाती है.
  • पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने 40 साल तक शिक्षक के रूप में काम किया था.
  • पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म दिन भी 5 सितम्बर को ही है.
  • अंतरराष्ट्रीय स्तर पर Teachers Day 5 अक्टूबर को मनाया जाता है.
  • डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का 17 अप्रैल 1975 को निधन हो गया था.

क्या आपने इन को पढ़ा –

निष्कर्ष

हमे पूरी उम्मीद है आपको ये शिक्षक दिवस पर निबंध (Teachers Day Essay in Hindi) जरुर से पसंद आया है इसी प्रकार से हिंदी स्पीच और हिंदी निबंध पढने के लिए speechhindi.com ब्लॉग के साथ बने रहिये गा और इस निबंध को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे और एक कमेंट कर के जरुर बताये आपको ये निबंध कैसा लगा आज के लिए इतना ही धन्यवाद!

Leave a Comment