My school essay in hindi

My school essay in hindi

हमारे जीवन में विद्या का बहुत महत्व है, पढ़े लिखे व्यक्ति को समाज में अलग ही दृष्टि से देखा जाता है. इसी वजह से हर व्यक्ति का शिक्षित होना आवश्यक है. अच्छी शिक्षा की शुरुआत विद्यालय से होती है जहाँ गुरुजनों के द्वारा ज्ञान दिया जाता है.

विद्यालय का अर्थ भी यही होता है जहाँ विद्या का निवास हो. विद्यालय शब्द संस्कृति भाषा के दो शब्द ‘विद्या’ मतलब ‘ज्ञान’ और ‘आलय’ मतलब ‘निवास स्थान’ से बना है. जिसका महत्व शायद हमको बड़े होने के बाद समझ आता है.

इस लेख में मेरा विद्यालय पर निबंध लिखा गया है जो छोटी कक्षा वाले विद्यार्थियों को परीक्षा में पूछा जाता है. यह लेख आपको इस विषय पर निबंध लिखने में मदद करेगा, आप अपनी सुविधा के अनुसार इसमें बदलाव कर सकते है. 

मेरे विद्यालय पर निबंध (Essay on My School in Hindi)

My school essay in hindi
My school essay in hindi

मेरे विद्यालय का नाम जवाहर नवोदय विद्यालय है जो एक आवासीय विद्यालय है. मेरा विद्यालय एक विशाल क्षेत्र में फैला हुआ है और इसकी एक बड़ी बिल्डिंग है.

मेरा विद्यालय एक अंग्रेजी माध्यम विद्यालय है जिसमें छोटे शहरों और गाँवों के प्रतिभाशाली बच्चों को निशुल्क शिक्षा प्रदान की जाती है. मेरे विद्यालय में एक प्राचार्य, एक उपप्राचार्य, शिक्षक और अन्य कर्मचारी मिलाकर 50 से भी ज्यादा लोगों का स्टाफ है.

विद्यालय में छठवीं से बाहरवीं तक कक्षाएं है और लगभग 500 विद्यार्थी पढ़ते है. हर कक्षा के लिए दो-दो सेक्शन बनाये गए है और सभी कक्षाओं में पंखे, टेबल, कुर्सी, श्यामपट्ट की उचित व्यवस्था है.

मेरे विद्यालय में एक पुस्तकालय है जिसमे हर तरह की पुस्तकें उपलब्ध है और एक कंप्यूटर कक्ष है जहाँ हमें कंप्यूटर सिखाया जाता है.

विद्यालय में एक बड़ा सा प्राथना स्थल है जहाँ सभी विद्यार्थी इकठ्ठा होकर प्रार्थना करते है और अन्य कार्यकर्मो का आयोजन भी यही पर होता है. मेरे विद्यालय में एक संगीत कक्ष भी है जहां संगीत और संगीत से जुड़े यंत्रो का वादन करना सिखाया जाता है.

मेरे विद्यालय में क्रिकेट, फुटबॉल, बास्केटबॉल, खो-खो, हैंडबॉल, वॉलीबॉल, हॉकी, कबड्डी जैसे कई खेलों के मैदान है जिनमें शाम के समय सभी बच्चे खेलते हुए दिखाई देते है और एक फिजिकल एजुकेशन के सर और मैडम भी है.

जो हमे विभिन्न खेलो से जुड़ी जानकारी देते है तथा अलग-अलग कक्षाओं के बीच खेलो की प्रतियोगिताओं का आयोजन करवाते है. 

मेरे विद्यालय में हरियाली का भी ध्यान रखा गया है, विद्यालय प्रांगण में विभिन्न प्रकार के हरे – हरे पेड़ पौधे लगे हुए है और फूलों के बगीचे भी लगाए गए है जो विद्यालय प्रांगण को विशेष सुंदरता प्रदान करते है. विद्यालय में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी की प्रयोगशाला है.

जिनमे बच्चों को प्रैक्टिकल जानकारी प्रदान की जाती है. मेरे विद्यालय के सभी शिक्षक विषय के अनुभवी और योग्य है. विद्यालय का वातावरण पढाई के अनुकूल है और हर साल मेरे विद्यालय के विद्यार्थी अच्छे अंको से उत्तीर्ण होते है.

Read more about My school essay in hindi with other sources

मेरे विद्यालय में प्राचार्य और स्टाफ के लिए शानदार कक्ष बने हुए है तथा प्राचार्य कक्ष के बाहर विद्यालय में हर वर्ष प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों की सूची लगाई गई है. मेरे विद्यालय में हर वर्ष वार्षिक उत्सव का कार्यक्रम भी होता है.

My school essay in hindi

जिसमे बच्चे बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेते है और अपनी प्रतिभा दिखाते है. विद्यालय में पानी की टंकी, ट्यूबवेल और शौचालय की उचित व्यवस्था है.

मेरे विद्यालय में एक मेडिकल कक्ष और नर्स मैडम भी जो बच्चों के बीमार होने पर उनका उचित इलाज करती है साथ ही सभी का रेगुलर चेक अप करती है ताकि कोई भी बीमारी हो तो उसका सही समय पर इलाज हो सके.

विद्यालय में सभी विद्यार्थी एक दूसरे के साथ भाईचारे से रहते है और कभी एक दूसरे के साथ झगड़ा नहीं करते है.

छोटी कक्षा के विद्यार्थी हमेशा बड़ी कक्षा के विद्यार्थियों के साथ आदर के साथ बात करते है और बड़ी कक्षा के विद्यार्थी भी छोटी कक्षा के विद्यार्थियों के साथ छोटे भाई की तरह व्यवहार करते है.

विद्यालय के बच्चे किसी के साथ रंग, धर्म, जाति और गरीबी के आधार पर कभी भी भेदभाव नहीं करते.

मेरे विद्यालय में हर महीने माता-पिता और शिक्षकों की मीटिंग का आयोजन भी किया जाता है जिसमे माता-पिता को बच्चे की गतिविधियों के बारे में जानकारी दी जाती है.

और विद्यार्थियों के हित में सकारात्मक निर्णय लिए जाते है. शिक्षक हर बच्चे से संपर्क करते है ताकि किसी भी प्रकार की समस्या हो तो उसका हल किया जा सके.

मेरे विद्यालय के द्वार पर ही एक सूचना पट्ट लगा हुआ है जिसके माध्यम से विद्यार्थियों को विद्यालय में होने वाली गतिविधियों के बारे में सूचित किया जाता है.

विद्यालय में एन सी सी और स्काउट भी है जिनमे बच्चे बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेते है और विद्यालय के लिए पदक जीत कर लाते है.

मेरे विद्यालय की दिनचर्या 

My school essay in hindi

मेरे विद्यालय का समय सुबह 7 बजे से दोपहर की 1:30 बजे तक है. विद्यालय में 7 बजे सभी विद्यार्थी आते है और सबसे पहले सभी प्रार्थना स्थल पर एकत्रित होते है.

सभी विद्यार्थियों और शिक्षकों के आने के बाद प्रार्थना का आयोजन करवाया जाता है.

उसके बाद सभी विद्यार्थी अपनी – अपनी कक्षाओं में जाते है और पढाई करते है. चार पीरियड तक लगातार पढाई के बाद 11 बजे एक ब्रेक होता है और फिर 1:30 सभी कक्षाओं की छुट्टी होती है. 

उपसंहार

My school essay in hindi

मेरा विद्यालय बहुत सुन्दर है और मुझे विद्यालय की हर गतिविधि में भाग लेना अच्छा लगता है. हम सभी विद्यार्थी मिलकर विद्यालय परिसर की साफ़ सफाई करते है.

ताकि गन्दगी की वजह से कोई विद्यार्थी बीमार ना हो. मुझे विद्यालय में कंप्यूटर कक्ष बहुत पसंद है जहाँ हमें तकनीक से जुड़ना सिखाया जाता है.

मेरे विद्यालय में हमेशा विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास पर ध्यान दिया जाता है. सभी शिक्षक बच्चों के अंदर की प्रतिभा को बाहर लाने के लिए विद्यालय की गतिविधियों में हिस्सा लेने के लिए प्रेरित करते है. अंत में यही कहना चाहता हूं कि मुझे अपने विद्यालय से बहुत प्यार है. 

https://www.youtube.com/embed/J-A5nfDL8kM

इन्हें भी जरुर पढ़े

  1. स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध
  2. महात्मा गाँधी जी पर निबंध
  3. शिक्षा में खेलों का महत्व पर निबंध
  4. बैडमिंटन खेल पर निबंध
  5. कैरम बोर्ड पर निबंध
  6. फुटबॉल पर निबंध
  7. कबड्डी पर निबंध
  8. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध
  9. कंप्यूटर पर निबंध
  10. प्रदूषण पर निबंध

By admin

A professional blogger, Since 2016, I have worked on 100+ different blogs. Now, I am a CEO at Speech Hindi...

One thought on “My school essay in hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *