इन्टरनेट पर निबंध

वर्तमान में हमारे पास ऐसे संसाधन मौजूद है जिनकी मदद से हम अपनी रोज़मर्रा की किसी भी समस्या का बहुत तेज़ी से और आसानी से समाधान कर सकते है.

इन सभी संसाधनों में इंटरनेट एक बहुत ही महत्वपूर्ण संसाधन है. इंटरनेट को 20वीं सदी का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण आविष्कार कहना गलत नहीं होगा.

हम किसी भी सवाल का उत्तर जानने और अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए तुरन्त कंप्यूटर और मोबाइल के अंदर इंटरनेट पर खोजते है और कुछ ही सेकंडो में सारी जानकारी हमारे सामने होती है यह सब कुछ इंटरनेट के कारण ही संभव हो पाया है.

इन्टरनेट पर निबंध (Internet Essay in Hindi)

Internet Essay in Hindi

पिछले कुछ वर्षो में इंटरनेट का बोलबाला पुरे विश्व में तेजी से बढ़ा है और भारत में इंटरनेट के उपयोगकर्ताओं में तेज़ी से बढ़ोतरी हुई है चाहे वो बच्चे, बड़े, महिलाएं और बुजुर्ग कोई भी वर्ग हो सभी इंटरनेट से रूबरू हो रहे है.

इस लेख में इंटरनेट पर निबंध लिखा गया है जो सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए इस विषय पर निबंध लिखने में मदद करेगा और साथ ही इंटरनेट के बारे में आपका ज्ञान बढ़ाने में मदद करेगा.

इंटरनेट क्या है ?

हम सभी किसी ना किसी माध्यम से इंटरनेट से जरूर जुड़े हुए है लेकिन क्या कभी हमने यह जानने का प्रयास किया कि इंटरनेट क्या है?

तकनीकी भाषा में इसका जवाब बहुत ही उलझा हुआ हो सकता है लेकिन अगर हम आसान भाषा में समझे तो इंटरनेट एक बहुत बड़ा नेटवर्क है.

जो विश्वभर के सारे कंप्यूटर को आपस में जोड़ता है और सूचनाओं का आदान प्रदान करता है. इसी वजह से इंटरनेट को ‘नेटवर्कों का नेटवर्क’ भी कहा जाता है.

इंटरनेट के तीन मुख्य भाग होते है सर्वर, इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर और आई पी एड्रेस. सर्वर का काम होता होता है सभी जानकारियों को एक साथ स्टोर करना और इंटरनेट प्रोवाइडर इन जानकारियों को सर्वर से हमारे तक पहुँचता है.

आई पी एड्रेस इंटरनेट से जुड़े प्रत्येक कंप्यूटर का एक यूनिक एड्रेस होता है जिसकी मदद से वो कंप्यूटर इंटरनेट को आसानी से एक्सेस कर पाता है.

इंटरनेट का इतिहास 

इंटरनेट के नाम से जाने जाने वाले इस महत्वपूर्ण आविष्कार का श्रेय अमेरिका को दिया जाता है. इसका आविष्कार 20वीं सदी में हुआ था और धीरे-धीरे औद्योगिक रूप से इसका तेजी से विकास हुआ.

सन 1960 में अमेरिकी वैज्ञानिक प्रोफेसर जे. सी. आर. लिकलडर ने दो कंप्यूटर के बीच सूचनाओं का आदान- प्रदान करने की परिकल्पना की और 1960 में पहली बार एक सरकारी कंप्यूटर नेटवर्क ARPANET की मदद से एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में संदेश भेजा गया. 

साल 1971 में रे टॉमलिंसन के द्वारा इंटरनेट के माध्यम से पहला ईमेल भेजा गया और यहीं से ईमेल अस्तित्व में  आया.

इसी वर्ष के आसपास वैज्ञानिक विंटन सर्फ ने ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकॉल का आविष्कार किया जिसको हम इंटरनेट प्रोटोकॉल के नाम से भी जानते है.

इसके माध्यम कई दूर के कम्पूटरो को आपस में जोड़ा गया. लेकिन 1990 से पहले इंटरनेट को औद्योगिक रूप से इतना महत्व नहीं दिया गया.

1991 में अमेरिका के कंप्यूटर प्रोग्रामर टीम बेर्नेर्स ली ने वर्ल्ड वाइड वेब का आविष्कार किया जो एक डाटा शेयरिंग कनेक्शन है. 1992 में पहले इंटरनेट ग्राफ़िक इंटरफ़ेस वाले ब्राउज़र ERWISE का आविष्कार किया गया.

धीरे-धीरे समय के साथ माइक्रोसॉफ्ट, मोज़िला फिरफोक्स, सफारी, गूगल क्रोम जैसे इंटरनेट ब्राउज़र का आविष्कार हुआ जिन्होंने इंटरनेट को दुनिया के हर कोने में पहुंचाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया.

इंटरनेट के लाभ

  1. इंटरनेट की वजह से ही हम फेसबुक, यूट्यूब, इंस्टाग्राम और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म से परिचित होने में सक्षम हुए जिनकी मदद से दुनिया के एक कोने में बैठे हुए भी किसी भी व्यक्ति के साथ जुड़ने में सक्षम हुए है.
  2. दुनिया में अलग-अलग लोगो से जुड़ने से हमें उनके बारे में जानने और आपस में सम्बन्ध स्थापित करने में बहुत ही आसानी हुई जिसके कारण विभिन्न देशो के बीच आपस में दूरिया कम हुई.
  3. पहले के समय में जब हमें बैंक, रेलवे स्टेशन, सरकारी कार्यालय, सिनेमा हाल और हॉस्पिटल जैसे कई सार्वजनिक स्थलों पर किसी काम को पूरा करने के लिए घंटों लाइनों में लगना पड़ता था वही वर्तमान में इंटरनेट को अपनाने के बाद हमारा काम बहुत आसान हो गया और समय की भी बचत हुई.
  4. इंटरनेट ने हमारी प्रतिभा को आसानी से लोगों तक पहुंचाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. पहले के समय में किसी साधारण व्यक्ति के पास अपनी प्रतिभा को पहुंचाने के लिए कोई संसाधन मौजूद नहीं थे लेकिन वर्तमान में कोई भी व्यक्ति फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब और अन्य सोशल मीडिया की मदद से अपनी प्रतिभा को पूरी दुनिया को दिखा सकते है.
  5. वर्तमान में किसी स्थान पर कोई घटना होती है तो इंटरनेट के माध्यम से किसी भी व्यक्ति के पास बहुत तेज़ी और आसानी से पहुँच जाती है.
  6. इंटरनेट ने व्यापार करने के लिए लोगो को नए-नए अवसर प्रदान किये है और दुनिया में कई ऐसे उदाहरण है जिन्होंने इंटरनेट के माध्यम से अपने जीवन में सफलता को हासिल किया. 
  7. इंटरनेट के आविष्कार ने शिक्षा को भी एक अलग स्तर पर पहुँचाया है. आज शिक्षा अगर दुनिया के हर कोने में पहुंच पायी तो उसका श्रेय इंटरनेट को देना गलत नहीं होगा. दुनिया में ऐसे बहुत से लोग थे जिनके पास शिक्षा प्राप्त करने के लिए उचित संसाधन मौजूद नहीं थे इंटरनेट ने ऐसे लोगों को शिक्षा प्राप्त करने के लिए कई संसाधन मुहैया करवाए.

इंटरनेट की हानियाँ 

इंटरनेट दुनिया के लिए एक बहुत बड़ा वरदान साबित हुआ उसके साथ-साथ इसके कुछ हानिकारक प्रभाव भी हुए जिनको नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता 

  1. इंटरनेट ने बैंकों और कई संस्थाओं में पैसों का लेनदेन बहुत तेज़ और आसान किया है तो इंटरनेट के माध्यम से पैसो की ठगी और चोरी होने का खतरा पैदा हुआ है जो एक ही जटके में कई बैंक खाते के पैसे गायब कर सकते है.
  2. इंटरनेट के बढ़ते दौर ने अश्लीलता को भी बढ़ावा दिया है बच्चों और युवाओ पर अश्लील वीडियो और फोटो का बहुत बुरा प्रभाव हुआ है. अभी भी अश्लीलता का प्रभाव बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है.
  3. इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले लोगों की गोपनीयता अब समाप्त हो चुकी है उसकी जानकारी अब व्यक्तिगत नहीं रही. इसकी वजह से उसके साथ होने वाले धोखाधड़ी का खतरा भी बढ़ा है.
  4. हम कई सोशल मीडिया प्लेटफार्म से रूबरू हुए है जिन पर हम घंटो बिता रहे है जो कि एक बहुत बड़ी लत है इसके कारण मानसिक और शारीरक कई नुकसान हो सकते है.
  5. इंटरनेट के कारण व्यक्ति ज़्यादातर समय अपने फ़ोन और कंप्यूटर में व्यस्त रहता है जिसके कारण परिवार से दूरिया बढ़ी है जो समझ के लिए एक अच्छा संकेत नहीं है.

उपसंहार

पिछले कुछ वर्षों में इंटरनेट लोगो के बीच इंटरनेट बहुत तेजी से लोकप्रिय हुआ. जिसने विज्ञान को भी एक नया जीवन प्रदान किया. भारत में भी बहुत तेज़ी से इंटरनेट देश के हर कोने में पहुंच रहा है.

गाँवों में भी लोग इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे है जिसकी मदद से वो किसी भी स्थान पर होने वाली घटना से अपडेट रहते है. यह सभी के लिए यह एक बहुत बड़ा वरदान साबित हुआ है.

हमे भी इसका सकारात्मक तरीके से उपयोग करना है और हमेशा इसके माध्यम से लोगो को कुछ ज्ञान देने और अपनी प्रतिभा को लोगो तक पहुंचाने का प्रयास करते रहना है.

इन्हें भी पढ़े

  1. ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध
  2. मेरे विद्यालय पर निबंध
  3. स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध
  4. महात्मा गाँधी जी पर निबंध
  5. शिक्षा में खेलों का महत्व पर निबंध
  6. बैडमिंटन खेल पर निबंध
  7. कैरम बोर्ड पर निबंध
  8. फुटबॉल पर निबंध
  9. कबड्डी पर निबंध
  10. कंप्यूटर पर निबंध

Leave a Comment