अमरूद पर निबंध

आज के लेख में हम अमरूद पर निबंध लेकर आये है. जिस से आपको अमरूद फल का महत्व पता चले गा. साथ में आप इस लेख को अमरूद पर निबंध लिखने की तयारी के लिए भी पढ़ सकते है तो फिर चलिए शरु करते है. और लिखते है अमरूद पर निबंध (Essay On Guava Fruit in Hindi).

अमरूद पर निबंध | Essay On Guava Fruit in Hindi

Essay On Guava Fruit in Hindi

अमरुद एक खट्टा मीठा फल है. जो खाने में बहुत ही स्वादिष्ट लगा है. अमरुद का उत्पादन सबसे ज्यादा भारत में किया जाता है. क्योकि भारत की धरती की उर्वरक शक्ति और जल वायु अमरुद के लिए काफी अच्छी है जिस के चलते भारत में अमरुद का अच्छा उत्पादन होता है.

अमरुद फल के साथ में अमरुद के पेड़ के पत्ते भी लाभकारी होते है. दांतों के लिए अमरुद के पत्ते किसी वरदान से कम नहीं है. अमरुद फल विभिन प्रकार के पाए जाते है. कुच्छ अमरुद के पेड़ पर पुरे साल फल लगता है तो कुच्छ पर समय अनुसार फल आता है.

कुच्छ अमरुद अंदर से हरे होते है तो कुच्छ अंदर से लाल पाए जाते है जोकि खाने में बहुत मीठे लगते है. अमरुद के निरंतर सेवन से कब्ज की समस्या कभी नहीं होती है.

अमरुद से दवाई भी बनाई जाती है. अमरुद बहुत से लोगो की मुख्य आये का साधन भी है. 

अमरुद का इतिहास 

अमरुद के पेड़ की उत्पति वेस्टइंडीज में हुई थी. 11 वीं शताब्दी में पहली बार अमरुद को भारत में उगाया गया. भारत की जल वायु अमरुद के लिए काफी अच्छी साबित हुई. जब से लगभग भारत में 17.6 लाख टन अमरुद का उत्पादन किया जाता है.

अमरूद का वैज्ञानिक वानस्पतिक नाम सीडियम ग्वायवा रखा गया है. अमरुद फल को सीडियम प्रजाति का बताया गया है.

अमरुद फल के अंदर प्रोटीन, मिनिरल भरपूर मात्रा में पाए जाते है. जोकि हमारे शरीर को रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करते है.

अमरुद हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी है इसी लिए हमे अमरुद का सेवन निरंतर करना चाइये.

अमरुद पर 10 लाइन हिंदी में 

  1. अमरुद के पेड़ की उत्पति वेस्टइंडीज देश में हुई थी.
  2. पहली बार 11 वीं शताब्दी में अमरुद को भारत में लगाया गया.
  3. अमरुद के खाने से कब्ज की समस्या नहीं होती.
  4. अमरुद की चटनी भी बनाई जा सकती है.
  5. अमरुद को सलाद के रूप में भी खाया जाता है.
  6. अमरुद के पेड़ विभिन प्रजाति के होते है.
  7. अमरुद के सेवन से दांत मजबूत होते है व् दांतों में कीड़ा नहीं लगता.
  8. अमरुद में विटामिन और मिनिरल भरपूर मात्रा में पाये जाते है.
  9. भारत में लगभग 17.6  लाख टन अमरुद का उत्पादन होता है.
  10. पाकिस्तान देश में अमरूद का उत्पादन लगभग 1.8  लाख टन किया जाता है.

अमरुद खाने से हमारे शरीर को और भी बहुत से फायदे होते है जानने के लिए निचे दी गई विडियो को देखे.

निष्कर्ष

हमे पूरी उम्मीद है आपको अमरूद पर निबंध (Essay On Guava Fruit in Hindi) पसंद आया है और आपको बहुत कुच्छ सिखने को भी मिला है. इसी प्रकार से हिंदी स्पीच, हिंदी निबंध पढने के लिए speechhindi.com साईट के साथ बने रहिये गा. धन्यवाद!

दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Comment