विश्व पर्यावरण दिवस पर भाषण

सबसे पहले विश्व पर्यावरण दिवस को 5 जून 1974 को मनाया गया जिस की थीम Only One Earth थी. उस के बाद ये विश्व पर्यावरण दिवस को हर साल 5 जून को मनाया जाने लगा इस दिन स्कूल, कॉलेज में प्रोग्राम आयोजित किये जाते है और पर्यावरण के प्रति हमारी जिम्मेदारी को याद दिलाया जाता है जिन को हम भूल चुके है.

विश्व पर्यावरण दिवस के असवर पर हम आपके लिए विश्व पर्यावरण दिवस पर भाषण (Environment Day Speech in Hindi) लेकर आये है जोकि आपको बहुत पसंद आये गा तो फिर चलिये शरु करते है.

Speech On Environment Day in Hindi

Speech On Environment Day in Hindi

यहाँ पर उपस्थित सभी आदरणीय महानुभावों प्रिंसिपल सर, अध्यापक व् अध्यापिकाओ को मेरा सादर प्रणाम विश्व पर्यावरण दिवस के असवर में एक भाषण पेश करना चाहता हूँ और उम्मीद करता हूँ आपको ये भाषण जरुर पसंद आये गा.

सबसे पहले विश्व पर्यावरण दिवस को  5 जून 1974 को मनाया गया और तभी से हर साल 5 जून को Environment Day मनाया जाता है.

यहाँ दिन सभी दिनों से बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है में एसा इसी लिए कह रहा हूँ क्योकि पर्यावरण पर हमारा भविष्य निर्भर करता है.

आज का इंसान भूल चूका है की पेड़ – पोधो से ही हमे आक्सीजन मिलती है जिस से हम सांस लेते है और इस धरती पर जीवित रहते है.

आज का इंसान इतना ज्यादा लालती हो गया है की बे हिसाब पेड़ो को काटे जा जहाँ है जिस से दिन प्रति दिन आक्सीजन की कमी होती जा रही है और बीमारियाँ बढ़ रही है.

एसी बात नहीं है की पहले पेड़ नहीं काटे जाते थे पहले के टाइम में पेड़ काटने से पहले उन की पूजा की जाती है थी और नये पेड़ भी लगाये जाते थे.

लेकिन आज का निशान पेड़ लगाने की तो छोडो वो जरा सा भी नहीं सोचता है पेड़ काटने से पहले.

अगर हम अपने भविष्य को सुधारना चाहते है तो हमे एक जुट होकर पर्यावरण की रक्षा करनी होगी नहीं तो विनाश के कारण हम खुद होंगे.

धरती हमारी माता है और हमारा भी दायित्व बनता है हम भी धरती माता का ख्याल रखे उस को स्वच्छ रखे.

पर्यावरण को एक इंसान या फिर एक समूह या एक देश नहीं सुधार सकता है इस में विश्व भर को साथ देना होगा तब ही हम अपने आने वाले कल को बेहतर बना सकते है.

आज के टाइम में बहुत ज्यादा पशुओं का शिकार किया जा रहा है जिसके चलते बहुत सी प्रजाति तो लुप्त होने की कगार पे पहुँच चुकी है और कुछ लुप्त भी हो चुकी है.

हमे मिल कर जल्द ही कोई ठोस कदम उठाना होगा जिस से हम पर्यावरण को बेहतर बना सके इसी के साथ अपने शब्दों को विराम देता हूँ धन्यवाद!

हमने विश्व पर्यावरण दिवस पर निबंध भी लिख रखा है उसे भी पढ़े लिंक निचे दे रखा है.

World Environment Day Speech in Hindi

यहाँ पर उपस्थित सभी आदरणीय महानुभावों प्रिंसिपल सर, अध्यापक व् अध्यापिकाओ को मेरा सादर प्रणाम

 हर साल 5 जून को पर्यावरण दिवस मनाया जाता है ये दिन हर किसी के लिए महत रखता है क्योकि पर्यावरण की हर इंसान को जरूत है.

अब तो समय आ चूका है जब हमे पर्यावरण के प्रति ठोस कदम उठाने चाइये नहीं तो बहुत पड़ा विनास हो सकता है.

आज के टाइम में हम ज्यादा से ज्यादा प्लास्टिक की बनी चीजो का प्रयोग कर रहे है जिस वजह से पर्यावरण को भारी नुकशान पहुँच रहा है.

बता दू प्लास्टिक का अंत नहीं होता है अगर इसे धरती में दबा दिया जाते तो धरती बंजर होती है और इसे जला दिया जाये तो ये वायु प्रदूषण होता है.

इसी लिए हमे इस का रीसायकल करना चाइये. जितना हो सके प्लास्टिक की बनी चीजो को कम से कम use करे.

जैसे – प्लास्टिक प्लोथिं की जगह आप कपडे के बने बेग व् कागज के बने बेग को प्रयोग कर सकते है जोकि काफी हद तक प्लास्टिक के प्रयोग को रोक सकता है.

हर किसी को अपने जीवन में एक पेड़ अवस्य लगाना चाइये और उस का सही से पालन पाषण भी करना चाइये जैसे हम अपने बच्चे का करते है.

अगर हम सब पर्यावरण के बारे में सोचना शरु कर दे तो वो दिन दूर नहीं है जब हम पर्यावरण को बेहतर कर देंगे.

चलिए आज हम सब मिलकर एक प्राण लेते है की हम एक पेड़ जरुर लगाये गें और उस में पानी और खाद देकर उसे फलदार व् छाया दार भी बनाये गें. धन्यवाद!

इन्हें भी जरुर पढ़े –

हमे पूरी उम्मीद है आपको विश्व पर्यावरण दिवस पर भाषण (Environment Day Speech in Hindi) जरुर से पसंद आया है इसी प्रकार हिंदी भाषण पढने के लिए Speech Hindi ब्लॉग के साथ बने रहिये गा और अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे ताकि उन को भी विश्व पर्यावरण दिवस का मातव का पता चले आज के लिए इतना ही धन्यवाद!

Leave a Comment