डिजिटल इंडिया पर निबंध

इंटरनेट दुनिया की सबसे बड़ी क्रांति है इंटरनेट देश के विकास को गति देने में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. विज्ञान और तकनीक की सहायता से आज अमेरिका और जापान जैसे देश कहाँ से कहाँ पहुँच गए. भारत में भी पिछले कुछ वर्षों में डिजिटलकरण तेजी से फैला है आज देश के अधिकतर लोगों के पास स्मार्ट फ़ोन है और वो अपने सारे काम घर बैठे स्मार्टफोन और इंटरनेट के माध्यम से कर रहे है.

भारत में नोटबंदी के बाद डिजिटलकरण ने एक नई उड़ान भरी और आज अधिकतर काम डिजिटल माध्यम से बहुत सरलता से हो रहे है. यह सब संभव हो पाया है सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान से जिसने हर क्षेत्र में नई ऊर्जा और क्रांति शुरू की. इस लेख में डिजिटल इंडिया पर निबंध लिखा गया है जो सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों की परीक्षा के दृष्टिकोण से बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है.

डिजिटल इंडिया पर निबंध (Digital India Essay in Hindi)

digital india essay in hindi

डिजिटल इंडिया देश में सरकारी और गैर सरकारी कामों को गति देने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. जिसके कारण आज देश के छोटे-छोटे गाँवों के लोगों को भी सभी सरकारी सुविधाओं का आसानी से लाभ मिल रहा है. घर बैठे बैंक खाते से पैसे ट्रांसफर करना, रेलवे और बस टिकट बुक करवाना, ऑनलाइन सामान मंगवाना या फिर कोई भी सेवा प्राप्त करना इस डिजिटल तकनीक के कारण बहुत आसान हो गया है.

बिजली बिल भुगतान, गैस बिल भुगतान, मोबाइल बिल भुगतान, पानी के बिल का भुगतान हम घर बैठे ऑनलाइन अपने फ़ोन से डिजिटल तरीके से कर सकते है. डिजिटल इंडिया नाम के इस प्रयास ने सभी लोगों का जीवन आसान बनाने में मदद की है.

डिजिटल इंडिया क्या है?  

डिजिटल इंडिया भारत सरकार के द्वारा चलाई गयी एक मुहीम है जिसका उद्देश्य सरकारी और गैर सरकारी सभी क्षेत्रों में भुगतान और अन्य कामकाजों में  इलेक्ट्रॉनिक माध्यम को बढ़ावा देना है ताकि देश को डिजिटल रूप से सशक्त और प्रगतिशील बनाया जा सके. डिजिटल इंडिया मिशन को सरकार ने 1 जुलाई 2015 को शुरू किया गया था.

डिजिटल इंडिया प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य है लोगों को सुचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से विभिन्न कार्यों को करने के लिए प्रेरित करना और ऐसे लोग जो डिजिटल उपकरणों की जानकारी से वंचित है उनको डिजिटल उपकरणों के बारे में जानकारी देना. देश के रिमोट क्षेत्रों में स्थित गाँवों और कस्बों को डिजिटलीकरण से जोड़ कर आवश्यक सेवाएँ घर बैठे प्रदान करना.

डिजिटल इंडिया अभियान ने डिजिलॉकर, कॉमन सर्विस सेन्टर, आयुष्मान भारत, आधार, राष्ट्रीय छात्रवती पोर्टल, इ गवर्नेंस, पीएम किसान, इ अस्पताल, मृदा स्वास्थ्य कार्ड आदि सुविधाओं की मदद से सभी नागरिकों के जीवन में सकारात्मक रूप से बदलाव स्थापित किये है. 

डिजिटल इंडिया के लाभ      

डिजिटल इंडिया मिशन से सभी लोगों को आवशयक कामों में सुविधा हुई है. पहले जब बैंक में पैसे निकलवाने या जमा करवाने जाते थे तो लम्बी-लम्बी लाइनों में लगना पड़ता था लेकिन जब से डिजिटल क्रांति आई बेंको में भीड़ ख़त्म हो गयी. अब बैंक से पैसे निकलवाने, खाते खुलवाने और पैसे जमा करवाने जैसी सुविधाएं हर गांव में मौजूद है आधार कार्ड की मदद से आसानी से बैंक का सारा काम अपने गाँव में ही हो जाता है.

पहले विभिन्न सरकारी दस्तावेज बनवाने के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते थे लेकिन अब ऑनलाइन माध्यम से कोई भी सरकारी काम किया जा सकता है जिससे भ्रष्टाचार में भी बहुत हद तक रोक लगी है. लोगों की पेंशन महीना खत्म होते ही सीधे उनके बैंक खाते में जमा हो जाती है. 

देश की लगभग सभी पंचायते डिजिटल हो चुकी है और कागजी कामकाज को बहुत कम कर दिया है जिससे अब किसी की भी समस्या का तुरंत समाधान हो जाता है. डिजिटल होने के कारण आय कर की चोरी कम हुई है क्योंकि किसी भी बिज़नेस को शुरू करने के लिए अब आधार कार्ड और पैन कार्ड अनिवार्य हो गया है.

डिजिटल इंडिया अभियान की मदद से लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान किये जायेंगे जो देश का सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा है. सभी प्रकार के डिजिटल प्लेटफार्म हर भाषा में उपलब्ध हुए है जिससे कोई भी व्यक्ति आसानी से डिजिटल प्लेटफार्म का उपयोग कर सकता है. गाँव के कम पढ़े लिखे लोगों को भी इंटरनेट और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग करने का प्रशिक्षण दिया गया.

डिजिटल इंडिया अभियान के तहत बहुत से लोगों ने अपना व्यवसाय इंटरनेट पर स्थापित किया, आज यूट्यूब, फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर लाखों लोग अपना बिज़नेस स्थापित कर चुके है यह सब डिजिटल इंडिया  मिशन की वजह से ही संभव हो पाया है.

आज हम अपने गाँव या शहर में हर व्यक्ति के हाथ में स्मार्टफोन देखत्ते है उससे पता चलता है कि भारत का हर नागरिक डिजिटल हो चूका है. सरकार के द्वारा दी जाने वाली कोई भी सब्सिडी या छात्रवत्ति तुरंत लोगों के खाते में पहुँच जाती उसके लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ते. कहीं पर भी ख़रीददारी करने के लिए जेब में पैसे होना जरुरी नहीं मोबाइल एप्प के माध्यम से तुरंत भुगतान किया जा सकता है. 

डिजिटल इंडिया की हानियाँ  

डिजिटलीकरण को अपनाना बहुत ही फायदेमंद है लेकिन इसके कुछ नकारात्मक प्रभाव भी हुए. बैंको में डिजिटल भुगतान को बढ़ावा दिया गया जिससे ऑनलाइन ठगी होने का खतरा भी बढ़ा है. कई लोगों के बैंक खातों से ठगी करके पैसे निकाल लिए गए. ऐसी घटनाओं के बारे में लोगों को सरकार के द्वारा सतर्क रहने का सन्देश भी दिया गया.

ऑनलाइन माध्यम से भुगतान करने पर कई बार लोगों के खाते से पैसे कट जाते है और वापस आने में अधिक समय लगता है. ऐसे में लोगों के अंदर पैसे खोने का डर रहता है. गाँव में अभी भी कई ऐसे लोग है जो ऑनलाइन भुगतान करने से डरते है. डिजिटल प्लेटफार्म पर अपनी जानकारी शेयर करने से लोगों की गोपनीयता ख़त्म हो चुकी है. 

इन्हें भी जरुर पढ़े : –

निष्कर्ष

डिजिटल इंडिया मिशन सरकार की  सबसे अच्छी पहल में से एक है जिसने देश के सभी नागरिको का काम आसान करने का  कार्य किया है. बहुत से ऐसे देश है जो बहुत पहले से ही डिजिटलीकरण अपना चुके थे और इसकी वजह से देश के विकास को भी गति मिली. इन्ही सब विशेषताओं को देखते हुए भारत ने भी डिजिटलीकरण को अपनाया. उम्मीद है कि इससे देश की अर्थव्यवस्था में सकारात्मक परिवर्तन दिखाई देंगे. 

Leave a Comment