बाल दिवस पर निबंध | Children’s Day Essay in Hindi

विश्व भर में बाल दिवस को अलग – अलग दिन मनाया जाता है भारत में बाल दिवस को 14 November को मनाया जाता है इस दिन ही जवाहरलाल नेहरू जी का जन्म दिवस भी है. जवाहरलाल नेहरू को बच्चो से बहुत लगाव था वो बच्चों में रहना बहुत पसंद करते थे.

जवाहरलाल नेहरू जी अपने जन्म दिवस पर बच्चो से मिलते थे और बच्चे उन्हें चाचा नेहरू कह कर पुकारते थे बाल दिवस के अवसर पर हम निबंध लेकर आये हूँ जोकि आपको बहुत पसंद आये गा तो फिर चलिए शरु करते है.

Children's Day Essay in Hindi

बाल दिवस पर निबंध | Bal Diwas Par Nibandh

बाल दिवस 14 नवम्बर को हर साल भारत में मनाया जाता है इस दिन स्कूल, कॉलेज में प्रोग्राम आयोजित किये जाते है जिस में बच्चे बड – चढ़ कर भाग लेते है और अपनी प्रतिभा अनुसार प्रदर्शन करते है. कोई भाषण, न्रत्य करता है तो कोई निबंध लिख कर अपनी प्रतिभा दिखाता है.

बाल दिवस को जवाहरलाल नेहरू जी के जन्म दिवस के अवसर पर ही मनाया जाता है जवाहरलाल नेहरू जी को बच्चो से बहुत प्यार था इसी लिए वो बच्चो में ज्यादा समय बिताते थे उन का मानना था की बच्चे हर देश का भावी भविष्य होता है इन के विकाश के लिए सरकार को कदम उठाने चाइये.

सरकार द्वारा इस दिन को विशेष बच्चो को आगे बढ़ाने पर विचार किया जाता है व् बाल श्रम जैसे मुदो पर भी विचार किया जाता है. स्कूल कॉलेज में अध्यापक भाषण के जरिये बच्चो को उनके अधिकार समझाते है व् बच्चो को पढाई करने के लिए प्रिरित करते है.

बाल दिवस के अवसर पर विशेषकर बच्चे रंग बिरंगे कपडे पहनते है और बच्चो में गिफ्ट व् मिठाई बाटी जाती है बाल दिवस का बच्चे बे सब्री से इंतजार करते है क्योकि इस दिन उन्हें बहुत मजा आता है और बहुत कुच्छ नया सिखने को भी मिलता है.

जो बच्चे काम करते है स्कूल में नहीं जाते है उनको और उनके माता पिता को हमे शिक्षा का मत्व बताना चाइये जिस से वो अपने बच्चो को स्कूल में भेजना शरु कर दे.

मेरी तरफ से आपको बाल दिवस की हार्दिक सुभकामनाये धन्यवाद!

बाल दिवस पर शार्ट निबंध (Short essay on Children’s Day)

जवाहरलाल नेहरू जी के जन्म दिन पर ही बाल दिवस को मनाया जाता है इस दिन स्चूलो में प्रतियोगिता आयोजित की जाती है जिस में बच्चे हिसा लेते है और उन को इनाम भी दिए जाते है.

जवाहरलाल नेहरू को बच्चो से बहुत लगाव था उन का मानना था बच्चे हमारे देश का भविष्य है इन का हमे पूरा ध्यान रखना चाइये ताकि हमारा भविष्य उज्वल हो सके.

हमे बच्चो पर हो रहे अत्यचार के खिलाप आवाज उठानी चाइये जहाँ बच्चो को आगे बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा इतने सारे कदम उठाये जा रहे है.

दूसरी तरह बच्चो से कारखानों में काम कराया जाता है जिस के चलते उन्हें स्कूल में नहीं भेजा जाता है और उन का भविष्य खतरे में पड़ जाता है.

बच्चो को भाषण के जरिये उन के अधिकारों से अवगत कराया जाता है जिस से उन का कोई भी शोषण न कर पाए हमे बच्चो की शिक्षा व् पालन पोषण का पूरा ध्यान रखना चाइये तब ही हमारा देश तरकी कर पाए गा बाल दिवस की हर्दिक सुभकामनाये!

बाल दिवस पर 10 लाइन | 10 Lines On Children’s Day

  1. 1954 में बाल दिवस को दुनिया भर में मान्यता मिली.
  2. 14 November को भारत में बाल दिवस मनाया जाता है.
  3. 14 November जवाहरलाल नेहरू जी का जन्म दिन है.
  4. जवाहरलाल नेहरू जी को बच्चो से बहुत लगाव था. 
  5. बच्चे जवाहरलाल नेहरू जी को चाचा नहरू कह कर बुलाते थे.
  6. बाल दिवस पर स्कूल कॉलेज में प्रोग्राम आयोजित किये जाते है.
  7. इस दिन बच्चे रंग बिरंगे कपडे पहनते है.
  8. बच्चे नृत्य, भाषण, निबंध जैसी प्रतियोगिता में भाग लेते है.
  9. बच्चो को इनाम दिए जाते है.
  10. बच्चो में मिठाई बाटी जाती है.

इन्हें भी पढ़े : –

निष्कर्ष 

हमे पूरी उम्मीद है आपको ये बाल दिवस निबंद पसंद आया है इसे पढ़ कर आपको पता चल गया होगा की बाल दिवस भारत में कैसे मनाया जाता है इसे दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे आज के लिए इतना ही धन्यवाद!

Leave a Comment