Aniruddhacharya Biography in Hindi | श्री अनिरुद्धाचार्य जी का जीवन परिचय

Aniruddhacharya Ji Maharaj Biography Hindi Bhagwat Katha Bhajan, Wife, Family, son Aniruddh Fees, marriage, cast, net worh, contact number, father name, अनिरुद्धाचार्य जी महाराज जीवन परिचय की पत्नी अनिरुद्धाचार्य महाराज के भजन, age, details कौन है कहां के रहने वाले हैं caste कितने बच्चे हैं, परिवार, पत्नी कौन है,

दोस्तों इस आर्टिकल में हम लोग Aniruddhacharya Biography in Hindi (श्री अनिरुद्धाचार्य जी का जीवन परिचय) के बारे में जानेंगे तो यदि आप भी अनिरुद्धाचार्य जी महाराज के बारे में और उनके जीवन के बारे में  जानना चाहते हैं तो कृपया आप हमारे इस article के साथ बना रहे.


Aniruddhacharya Biography in Hindi

दोस्तों इस आर्टिकल में हम लोग अनिरुद्धाचार्य जी महाराज जीवन कथा के बारे में सभी जानकारियों को प्राप्त करेंगे जैसे कि वे कहां के रहने वाले हैं और उनका जन्म कहां और कब हुआ था इसके अलावा हम अनिरुद्धाचार्य जी के पत्नी और उनके परिवार के बारे में भी बात करेंगे और फिर हम लोग Aniruddhacharya ji के उम्र और net worth के बारे में भी जानेंगे और फिर उसके बाद Aniruddhacharya ji के contact number और caste के बारे में भी बताएंगे।

तो Aniruddhacharya ji और उनके Biography के बारे में पूरा विस्तार से जानने के लिए  आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा last तक पढ़े तो चलिए शुरू करते हैं इस article को और श्री अनिरुद्धाचार्य जी का जीवन परिचय को जानते हैं।

श्री अनिरुद्धाचार्य जी का जीवन परिचय 

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज एक आध्यात्मिक गुरु, और मोटिवेशनल स्पीकर है और इनका जन्म 27 September 1989 को जबलपुर मध्यप्रदेश (भारत) में हुआ था। अनिरुद्धाचार्य जी अब तक 700 से भी ज्यादा कथाएं और प्रवचन देश विदेश में कर चुके है। अभी के समय में सबसे जल्दी ख्याति प्राप्त करने वाले धार्मिक क्षेत्र में अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का नाम आता है।

यह गाय और बैल के काफी ज्यादा प्रेमी है बचपन में जब ये छोटे थे तो अनिरुद्धाचार्य जी गाय को चराने के लिए चले जाते थे जिससे इनका लगाओ गायों मे और भी जादा बढ़ता गया और यह लगाओ आज भी देखा जाता है।

अनिरुद्धाचार्य जी अपने प्रवचन और भजन के माध्यम से लोगों को अपने धर्म के सिद्धांत और उनके विचारधरा के बारे में जानकारी देते हैं इसके अलावा वह लोगों को परेशानियों को भी हल करते हैं और वे सभी मोह और लोभ से बाहर निकलने का उपाय बताते हैं और लोगों के जीवन से जुड़ी सभी समस्याओं पर वे अपना विचार रखते हैं।

श्री Aniruddhacharya Ji Maharaj का जन्म 27 September 1989 को जबलपुर मध्यप्रदेश (भारत) में हुआ था। जन्म और आयु (Birthday And Age) महाराज अनिरुद्धाचार्य का जन्म 27 सितंबर 1989 में मध्यप्रदेश के दमोह जिले मे रिंवझा नामक गाँव में हुआ है बचपन से ही इनका मन आध्यात्मिक क्षेत्रों में ज्यादा रहता था। इसी कारण से इन्होंने अनेकों प्रकार के धार्मिक पुस्तक जैसे भगवत गीता, रामायण, महाभारत जैसे ग्रंथों का अध्ययन किया।

सबसे बड़ी बात है कि हनुमान चालीसा उन्हें कंठस्थ याद है Aniruddhacharya ji स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद Vrindavan चले गए जहां इन्होंने अपने गुरु संत गिर्राज शास्त्री महाराज से दीक्षा प्राप्त की तथा सनातन धर्म का प्रचार करने लगे। ।

अनिरुद्ध महाराज जी को बचपन से ही गाय की सेवा करना बहुत ज्यादा पसंद है इसीलिए गाय को माता की उप्मा देते है ।

अनिरुद्धाचार्य जी जन्म और आयु 

दोस्तों जैसा कि हम आपको ऊपर बताए हैं की महाराज अनिरुद्धाचार्य का जन्म 27 सितंबर 1989 में मध्यप्रदेश के दमोह जिले मे रिंवझा नामक गाँव में हुआ है Aniruddhacharya Ji Maharaj के मन बचपन से ही आध्यात्मिक क्षेत्रों में ज्यादा रहता था।

ऐसा बताया जाता है कि जब यह पारंपरिक गौ भक्त परिवार के होने की वजह से अनिरुद्धाचार्य महाराज को गौ माता की सेवा करने में  काफी ज्यादा आनंद मिलता था।

इसी कारण से अनिरुद्ध आचार्य जी ने अनेकों प्रकार के धार्मिक पुस्तक जैसे भगवत गीता, महाभारत, रामायण, जैसे बड़े-बड़े धार्मिक ग्रंथों का अध्ययन किया है।

दोस्तों हम आपको बता दें कि महाराज अनिरुद्ध आचार्य जी को हनुमान चालीसा कंठस्थ याद है क्योंकि वह हमेशा हनुमान चालीसा जप करते हैं अनिरुद्ध आचार्य जी स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद रहने के लिए वृंदावन चले गए जहां अनिरुद्ध आचार्य जी ने अपने गुरु संत गिर्राज शास्त्री जी महाराज से दीक्षा प्राप्त की तथा उनके साथ महाराज अनिरुद्ध आचार्य जी  सनातन धर्म का प्रचार करने लगे।

महाराज अनिरुद्ध आचार्य जी को बचपन से ही गाय की सेवा-सत्कार करना बहुत ज्यादा पसंद है इसीलिए टीवी पर अक्सर उन्हें देखा गया है कि वे गाय माता की उप्मा देते है।

अनिरुद्धाचार्य महाराज का परिवार 

दोस्तों यदि हम अनिरुद्धाचार्य जी महाराज के परिवार की बात करें तो उनके परिवार में कुल मिलाकर 6 लोग हैं जिसमें उनकी पत्नी, दो बच्चे और उनके माता-पिता जिसमे अनिरुद्धाचार्य जी महाराज के पिताजी का नाम श्री अवधेशानंद गिरी है और  उनके पिताजी भागवताचार्य भी रहे है।

इसी के साथ Shri Aniruddhacharya ji के पत्नी भी एक गुरु माता है और वह अनिरुद्धाचार्य जी की तरह प्रवचन देने का कार्य करती है। Aniruddhacharya ji के बच्चे उनके माता पिता के साथ रहते हैं।

अनिरुद्धाचार्य महाराज की पढ़ाई 

अनिरुद्धाचार्य महाराज जी के स्कूली शिक्षा दीक्षा बहुत ही कम है क्योंकि उनके बचपन में आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण वह सही से पढ़ाई नहीं कर पाए 

Aniruddhacharya ji  बचपन से ही वृंदावन  आकर संस्कृत में अध्ययन किया इसके अलावा जितने भी हिंदू धर्म ग्रंथ है जैसे की रामायण,  महाभारत, पुराण, गीता इन सभी धर्म ग्रंथ का उन्होंने अध्ययन किया है। अनिरुद्धाचार्य जी महाराज अपनी शिक्षा-दीक्षा गुरु संत गिराज महाराज जी के शरण मे ली है।

अनिरुद्धाचार्य महाराज वैवाहिक जानकारी (Aniruddhacharya Ji Maharaj  Marriage, Wife, name, photo, date)

यदि हम Aniruddhacharya ji Maharaj की विवाह (Marriage) की बात करें तो अनिरुद्धाचार्य महाराज जी ने शास्त्रो की नीति के हिसाब से अपनी विवाक भी कर लिए है। जिसमे इनकी पत्नी भी इनके जैसा प्रवचन और गायन का कार्य करती है। यदि हम Aniruddhacharya ji maharaj wife के बारे में बात करें तो उनके Wife का नाम guru Mata है।

Also Read :- रानू मंडल का जीवन परिचय

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज करियर 

दोस्तों जैसा कि हम लोग जाने हैं कि Shri Aniruddhacharya ji का आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण उनकी शिक्षा दीक्षा काफी कम है लेकिन उन्होंने बचपन से कभी भी आध्यात्मिक जीवन को नहीं छोड़ा और जैसा उनको बचपन में आध्यात्मिक मे ज्यादा मन लगता था वैसा उनको आज भी लगता है।

इसलिए अनिरुद्धाचार्य जी महाराज बचपन में ही वृंदावन आ गए और अपने गुरु के शरण में इन्होंने अनेकों प्रकार के हिंदू धार्मिक ग्रंथों जैसे की रामायण, महाभारत, पुराण और भागवत गीता का अध्ययन किया और  उन्होंने अपने Career की शुरुआत एक कथा और प्रवचन वाचक और भक्ति गायन के तौर पर शुरू किया।

और आज के समय मे Aniruddhacharya ji   यूट्यूब और बहुत सारे TV channel के माध्यम से लोगो के समक्ष भागवत कथा का प्रवचन करते है। और जहां अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का कथा वाचन होता है वहाँ  उनकी कथा को सुनने के लिए लोगो की काफी ज्यादा भीड़ उमड़ती है।

जिसके कारण लोगो को कथा वाचन के 5 से 6 घंटे पहले प्रवचन के स्थल पर पहुचना पड़ता है तभी भागवत कथा का आनंद ले पते है। लेकिन जो लोग वहां पर नहीं पहुंच पाते हैं उनके लिए यह प्रवचन टीवी पर प्रकाशित किया जाता है  इसके अलावा यह प्रवचन Aniruddhacharya ji YouTube channel पर भी दिखाया जाता है।

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का सामाजिक कार्य 

Aniruddhacharya ji हमेशा लोगों को धर्म के मार्ग पर चलने की प्रेरणा देते हैं ताकि लोग दूसरे में दिशा मे कहीं भ्रमित ना हो सके। इसके अलावा अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का एक  गौरी गोपाल आश्रम है जहां पर हुए अनाथ बूढ़े बुजुर्ग लोगों को रहने का आसन देते हैं और उन्हें खाना पीना देते हैं  इसके अलावा वो गायों और बंदरो की सेवा करने में भी काफी रुचि रखते हैं। और उनका गौरी गोपाल आश्रम में डॉक्टर्स भी है जो बूढ़े बुजुर्ग और गरीब लोगों का इलाज करते हैं।

इसके अलावा इनका एक खुद का एक आश्रम भी है जहां पर यह गरीब और अनाथ कन्याओं की शादी करवाने का कार्यक्रम भी आयोजित करते हैं ताकि जिनके पास कुछ भी पैसे नहीं है वह अपनी कन्या का विवाह आसानी से कर पाए।

अनिरुद्ध आचार्य जी महाराज जी का धार्मिक कार्य 

दोस्तों अनिरुद्धाचार्य जी अपने इस प्रवचन और भजन के माध्यम से लोगों को अपने धर्म के सिद्धांत और उनके विचारधरा के बारे में जानकारी देते हैं इसके अलावा वह लोगों को  परेशानियों को भी हल करते हैं और उनको मोह और लोभ से बाहर निकलने का उपाय बताते हैं  और लोगों के जीवन से जुड़ी सभी समस्याओं पर वे अपना विचार रखते हैं।

ऐसे में Shri Aniruddhacharya ji महाराज हिंदू धर्म में निवास करने वाले लोगों को हमेशा धर्म के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं और हिंदू धर्म का जो भी धार्मिक मान्यता और  उनके पुरातन इतिहास बारे में लोगों को जानकारी देते हैं। और वे सभी लोगों को सही रास्ते पर चलने की सलाह देते हैं।

सभी हिंदू धर्म के लोग अपने धर्म से जुड़े हुए अच्छी बातों को अपने रोजमर्रा के जीवन में सम्मिलित कर सकें पंडित अनिरुद्धाचार्य जी अपने कथा के माध्यम से लोगों को ईश्वर के प्रति समर्पित और भक्त होने की भी प्रेरणा देते हैं इसलिए उनका धार्मिक कार्य करने का क्षेत्र काफी उद्देश्य पूर्ण और व्यापक है।

पुरस्कार (Aniruddh Maharaj Award)

यदि हम अनिरुद्धाचार्य जी महाराज के सम्मान और पुरस्कार (Award) के बारे मे बातें करे तो अभी तक अनिरुद्धाचार्य जी महाराज को महाराज जी को केंद्र या राज्य सरकार की तरफ से कोई भी Award या पुरस्कार नहीं दिया गया है।

लेकिन जिस प्रकार अनिरुद्धाचार्य जी महाराज सामाजिक और धार्मिक कार्य को कर रहे हैं ऐसे में  हम सभी उम्मीद कर सकते हैं कि आने वाले समय में अनिरुद्धाचार्य जी को सरकार की तरफ से अवार्ड जरूर दिया जाएगा।

अनिरुद्धाचार्य जी के जुड़ी कुछ रोचक तथ्य 

  • Shri Aniruddhacharya ji  ने अपना YouTube Channel अपने जन्मदिन के 2 दिन पश्यात Sep 29,  वर्ष 2017 को शुरू किया था।
  • Shri Aniruddhacharya ji अब तक 700 से भी ज्यादा कथाएं और प्रवचन देश विदेश में कर चुके है।
  • इन्होंने Gowri Gopal aashram बूढी माताओ के  हराने के लिए और उनको खाना-पीना देने के लिए शुरू किया है।
  • Aniruddhacharya ji की ज्यादातर कमाई वृद्ध माताओ की सेवा सत्कार करने में चली जाती है।
  • बचपन में Aniruddhacharya ji की छोटी बेहेन का देहांत हो गया था।
  • Shri Aniruddhacharya maharaj की सबसे रोचक बात करें तो इनका परिवार पूरी तरह से धार्मिक क्षेत्रों में ही देखने को मिलता है Shri Aniruddhacharya ji में इसके पिता जी श्री अवधेशानंद गिरी भागवताचार्य है इसी के साथ Shri Aniruddhacharya ji  की पत्नी भी धार्मिक क्षेत्र में प्रवचन और कथा करती है।
  • Aniruddhacharya ji की सबसे बड़ी रोचक बात यह है कि आज के समय में लगभग आपको के हर जगह हर घर में कोई न कोई जगह आपको अनिरुद्धाचार्य जी महाराज की भजन  TV channel में, mobile phone में या फिर और माध्यम से आपको देखने को मिल ही जाएगा।
Also Read :- आनंद आहूजा जीवन परिचय
  • अनिरुद्धाचार्य जी महाराज कि सबसे रोचक बात यह है कि अभी के समय में सबसे जल्दी ख्याति प्राप्त करने वाले धार्मिक क्षेत्र में अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का नाम आता है।
  • अनिरुद्धाचार्य जी की और सबसे बड़ी रोचक बात यह है कि स्वामी अनिरुद्धाचार्य जी अपनी कमाई का ज्यादातर हिस्सा गौरी गोपाल वृद्धा आश्रम मे बूढ़े बुजुर्ग माताओं के लिए दान करते हैं इस गौरी गोपाल वृद्धाश्रम संस्था को अनिरुद्धाचार्य जी ने  वर्ष 2016 मे शुरू किया था।
  • Shri Aniruddhacharya ji की और सबसे बड़ी रोचक बात करें तो यह गाय और बैल के काफी ज्यादा प्रेमी है बचपन में जब छोटे थे तो Shri Aniruddhacharya ji  गाय को चराने के लिए चले जाते थे जिससे इनका लगाओ गायों मे और भी जादा बढ़ता गया और यह लगाओ आज भी देखा जाता है।

Aniruddhacharya ji ke Social Media And Contact Number

दोस्तों यदि आप  कथा सुनने या डिनोशन  करने के इरादे से Aniruddhacharya ji से कांटेक्ट करना चाहते हैं  तो हम आपको बता दें कि Aniruddhacharya ji सोशल मीडिया  पर काफी ज्यादा एक्टिव रहती है आप उनके  कांटेक्ट नंबर या सोशल मीडिया से Aniruddhacharya ji को Contact कर सकते हैं तो चलिए जानते हैं उन सभी Aniruddhacharya ji contact details के बारे में, 

Aniruddhacharya ji Facebook – click here

Aniruddhacharya ji Instagram – click here

Aniruddhacharya ji Twitter – click here

Aniruddhacharya ji website – click here

Aniruddhacharya ji YouTube – click here

Aniruddhacharya ji email ID – contact@shrigougourigopalsevasanstha.com

Aniruddhacharya ji contact number – 6399991599, 6399991699, 6399991799

Also Read :- Arshifa Khan Biography Hindi

[Aniruddhacharya ji FAQ,s ]

अनिरुद्ध आचार्य जी कहां के रहने वाले हैं?

दोस्तों यदि आप जानना चाहते हैं कि अनिरुद्ध आचार्य जी कहां के रहने वाले हैं तो हम अपनी जानकारी के लिए बता देगी अनिरुद्ध आचार्य जी वृंदावन में रहते हैं।

Aniruddhacharya Ji Maharaj fees?

दोस्तों यदि हम Aniruddhacharya Ji Maharaj fees की बात करें तो अनिरुद्धाचार्य महाराज जी के एक प्रवचन करने के लिए 7 to 10 lakhs rupees तक के fees लेते हैं

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज age (Shri Aniruddhacharya ji की उम्र)?

यदि हम अनिरुद्धाचार्य जी महाराज age की बात करें तो सितंबर 2021 के अनुसार उनकी age अब लगभग 32 वर्ष हो चुका है। 

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज net worth?

यदि हम अनिरुद्धाचार्य जी महाराज कि net worth के बारे में बात करें तो अनिरुद्धाचार्य जी महाराज की net worth लगभग 4 से 5  करोड़ रुपए है।

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज कांटेक्ट नंबर?

6399991599, 6399991699, 6399991799

Aniruddhacharya ji ka parivar?

यदि हम Aniruddhacharya ji ka parivar की बात करें तो उनके परिवार में कुल मिलाकर 6 लोग हैं जिसमें उनकी पत्नी, दो बच्चे और उनके माता-पिता है।

अनिरुद्ध आचार्य के कितने बच्चे हैं?

अनिरुद्ध आचार्य जी के 2 बच्चे है।

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज कितने पढ़े लिखे हैं?

दोस्तों यदि हम बात करें अनिरुद्धाचार्य जी महाराज पढ़ाई के बारे में एक दोगे ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं है क्योंकि उनके आर्थिक स्थिति खराब हो जाने के कारण वे अच्छे से पढ़ाई नहीं कर पाए।

गौरी गोपाल आश्रम कहां पर है?

दोस्तों हम आपको जानकारी के लिए बता दें कि अनिरुद्धाचार्य जी महाराज के आश्रम का नाम गौरी गोपाल आश्रम है और यह आश्रम वृंदावन में है।

अनिरुद्धाचार्य जी का असली नाम क्या है?

दोस्तों यदि आप जानना चाहते हैं कि अनिरुद्धाचार्य जी का असली नाम क्या है तो हम अपनी जानकारी के लिए बता दें कि महाराज जी का असली नाम अनिरुद्धाचार्य ही है।

महाराज Aniruddhacharya Ji की कथा कौनसे चैनल पर आती है?

दोस्तों यदि आप महाराज की कथा सुनना चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि उनका कथा किस TV चैनल पर आता है तो वह हमको जानकारी के लिए बता दें कि Shri ji का प्रवचण Shadhna Channel पर 3:00 से लेकर 6:00 तक प्रकाशित किया जाता है।

Aniruddhacharya Ji Maharaj caste?

यदि हम Ji Maharaj के cast की बात करें तो वह एक Pandit है और  Ji Maharaj हिंदू Religion के हैं।

अनिरुद्ध आचार्य जी के माता पिता कौन है?

अनिरुद्ध आचार्य जी के माता पिता का नाम मल्लप्पा और श्री मंती है।

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज Bhajan कैसे देखें ?

दोस्तों यदि आप अनिरुद्ध आचार्य जी के प्रवचन आज के प्रवचन या भजन देखना चाहते हैं तो अनिरुद्धाचार्य जी महाराज लाइव टुडे Bhajan को देखने के लिए आप साधना टीवी चैनल पर जाकर देख सकते हैं और अनिरुद्ध आचार्य जी के प्रवचन शाम को 3:00 बजे से लेकर 6:00 बजे तक दिखाया जाता है। तो उस वक्त आप aniruddhacharya ji ka bhajan देख सकते हैं।

Aniruddhacharya Ji Ke Pravachan

https://www.youtube.com/watch?v=CrhdQMVgefg&feature=youtu.be
Video Credit By Aniruddhacharya ji Youtube chaneel

[अंतिम विचार ]

दोस्तों हमें उम्मीद है कि Aniruddhacharya Biography in Hindi (श्री अनिरुद्धाचार्य जी का जीवन परिचय) पर यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा और आप Shri Aniruddhacharya ji के बारे में और भी अच्छे से जानता है होंगे  तो चले इसी के साथ इस लेख को यहीं समाप्त करते हैं लेकिन जाते जाते हैं हम आपसे कमेंट बॉक्स में जानना चाहते हैं कि Aniruddhacharya Biography के Gionee Parichay यह आलेख आपको कैसा लगा.. आर्टिकल पढ़ने के लिए धन्यवाद 😊

Also Read :- रानू मंडल का जीवन परिचय

हम से जुड़ने के लिए Group को join करे

Leave a Comment